Tuesday, August 26, 2008

कल श्रोता बिरादरी में मीठे मुकेश की भावभीनी याद

जिस गायक ने अपनी आवाज़ की मर्यादा में जादुई करिश्मे किये उसी अमर गायक मुकेश को कल श्रोता-बिरादरी एक भावभीनी आदरांजली पेश करने जा रही है. सहगल गान परम्परा के इस अनूठे गायक ने पूरी ईमानदारी से अपनी निज-पहचान को ईजाद किया. गले के साथ करिश्मे करने वाले समकालीन गायकों में अपने चुनिंदा गीतों से एक बड़ा श्रोता-संसार भी खड़ा किया. सादा तबियत और सरलता के पर्याय मुकेशजी श्रोता-बिरादरी पर सुनाई देंगे एक लगभग अनसुने लेकिन दिल को छू लेने वाले गीत के साथ.

चयनित गीत में भी मुकेश गायकी अंदाज़ सुनाई देगा और आप महसूस करेंगे कि तमाम सीमाओं में रह कर अपने सुर से क्या ग़ज़ब ढाया है इस जनप्रिय गायक ने.
श्रोता-बिरादरी के मुकेश स्मृति संस्करण की सूचना अपने मुकेश मुरीद परिजनों और मित्रों तक ज़रूर दीजियेगा.
बुधवार २७ अगस्त,समय वही श्रोता-बिरादरी टाइम.

1 टिप्पणियाँ:

अफ़लातून said...

बेताबी से इन्तज़ार रहेगा ।

 
template by : uniQue  |    Template modified by : सागर नाहर   |    Header Image by : संजय पटेल